header
 
HOME  |  ABOUT US   |  CONTACT US  |  HELLO SARKAR TV
राजस्थान: भाजपा के पूर्व विधायक चुनाव से पहले बनाएंगे नई पार्टी, देंगे कड़ी टक्करपुलिस तंत्र कमजोर, अपराधियों में भी कोई खौफ नहीं : बेनीवालहनुमान बेनीवाल के साथ गठबंधन का जल्द होगा ऐलान: घनश्याम तिवाड़ीकौशल, रोजगार एवं उद्यमिता सहायता शिविर का आयोजनउच्च शिक्षा मंत्री ने राजसंमद में मेधावी छात्राओं को साईकिल और स्कूटी वितरण कियाशादी के बाद घूमने गई दुल्हन ने की ऐसी हरकत..कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लड़ेंगे किसानों की लड़ाईउच्च शिक्षा मंत्री ने राजसंमद में मेधावी छात्राओं को स्कूटी वितरण कियादिल्ली में दो बहनों की हत्या का खुलासा, पति समेत 3 गिरफ्तारनोटा की हवा से खराब हुई राजनीतिक दलों की हालतशशि थरूर का भाजपा पर पलटवार, कहा- भगवा दल ने विदेशी प्लेटफॉर्म का ‘‘राजनीतिकरण’’ किया है

Page Heading

नरेंद्र मोदी

 

 

पायलट गुट का हमला, विधायक भाकर और पारीक बोले, नए लोग हम पर सवाल उठा रहे हैं

सचिन पायलट खेमे के विधायक मुकेश भाकर और राकेश पारीक ने आज बसपा से कांग्रेस में आए विधायकों के आरोपों को लेकर पलटवार किया विधायक मुकेश भाकर है।

जयपुर। सचिन पायलट खेमे के विधायक मुकेश भाकर और राकेश पारीक ने आज बसपा से कांग्रेस में आए विधायकों के आरोपों को लेकर पलटवार किया है। दोनों विधायकों ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आज नए लोग कांग्रेस में सवाल उठा रहे है।दोनों विधायकों ने कहा कि गददार तो बसपा के विधायक है, जो मंत्री बनना चाह रहे है। इनमें से किसी का भी कांग्रेस से नहीं कोई जुडाव नहीं रहा है। भाकर और पारीक ने कहा कि
बसपा विधायकों से तीखी बयानबाजी कौन करवा रहा है। आखिर कौन चाहता है कि हम कांग्रेस से चले जाएं और कौन फूट डालना चाहता है
उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी नेता है।अशोक गहलोत भी बड़े नेता है। हम सचिन पायलट के साथ है। हमने संगठन में काम किया। हम पायलट के साथ है और वे जो कहेंगे वो करेंगे। दोनों विधायकों ने यह भी कहा कि कांग्रेस का विरोध करने वालों को पदों पर नियुक्त किया गया। कवि कुमार विश्वास की पत्नी को आरपीएससी का सदस्य क्यों बनाया। इससे पहले दिन में बसपा से से कांग्रेस में आए विधायकों ने मंगलवार को बैठक की और अपनी रणनीति बनाई। विधायकों ने सचिन पायलट गुट पर निशाने भी साधे। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में विधायक राजेंद्र गुढ़ा सहित अन्य विधायकों ने कहा कि हम बसपा से कांग्रेस में इसलिए आए थे कि कि कांग्रेस मजबूत बन सके रहे। वैसे हमारे साथ न्याय तो नहीं हो रहा लेकिन सीएम अशोक गहलोत ने हमारे क्षेत्र में खूब काम कराए है, लेकिन गुढा ने एक मुहावरे का उदाहरण देते हुए कहा कि मुर्गे ने जान दे दी लेकिन खाने वालों ने कहा कि हमें तो मजा नहीं आया। विधायक गुढ़ा यहीं नहीं रूके, उन्होंने ये भी कहा कि वफादार और गैर वफादार में फर्क तो होना चाहिए। गुढा ने कहा कि कांग्रेस सरकार को हमने बचाया, निर्दलीय का भी हमसे कंपेरिजन नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि जो लोग बगावत करते हैं उनका पलक पांवड़े बिछाकर घर वापसी में स्वागत हो यह ठीक नहीं है, अशोक गहलोत हमारे नेता थे और भविष्य में भी रहेंगे।

 

 

 

 

 

editor@hellosarkar.com   |   marketing@hellosarkar.com   |   hellosarkarnews@gmail.com
All rights reserved by www.hellosarkar.com

HOME | ABOUT US | CONTACT US | PRIVACY POLICY | DISCLAIMER | ENGINEER